Top 9 Places to visit in Delhi in hindi

November 19, 2022 0 Comments

हमारे भारत की राजधानी हैं दिल्ली और इसीलिए यह प्रसिद्ध भी हैं। परन्तु दिल्ली के प्रसिद्ध होने की यही एक वजह नही है। आज हम जानेंगे Top Places to visit in Delhi के बारे में। प्राचीन काल के राजाओं, बादशाहों के शासन की अनेक कहानियाँ दिल्ली से जुड़ी हुई हैं। दिल्ली में और भी ऐसी कई चीजें व जगह है जिन्हे देखकर आप अचंभित हो जायेंगें। चाहे वह दिल्ली की कड़कड़ाती सर्दी हो या फिर यहाँ पर मिलने वाले स्वादिष्ट पकवान। यहाँ पर घूमने फिरने की भी कई जगह है। यह पर आपको धार्मिक स्थल , प्राचीन इमारतें , खानपान की चीजे आदि कई सारी चीजे यह देखने को मिलेंगी। दिल्ली को ‘दिल वालों की… दिल्ली’ भी बोला जाता है।

Top Places to visit in Delhi in hindi

आज के इस article में हम आपको Top Places to visit in Delhi से जुड़ी ऐसी ही बहुत सी खास बाते बताने वाले हैं। कोन सी जगह कैसी है और किस चीज के लिए प्रसिद्ध है। उन जगहों का विवरण हमने नीचे दिया है। तो चलिए जानते है उन जगहों के बारे में।

संसद भवन (Parliament of India)

दिल्ली हमारे देश की राजधानी हैं, तो यहाँ का प्रथम आकर्षण देश का संसद भवन है। यह एक वृत्ताकार [Circular] इमारत हैं। इसका design ब्रिटिश आर्कीटेक्ट सर एडविन लुटयेंस और सर हर्बर्ट बेकर के द्वारा सन 1912 – 1913 में बनाया गया था। इसका निर्माण सन 1921 से 1927 तक चला और फिर इसे काउंसिल ऑफ़ स्टेट, सेंट्रल लेजिस्लेटिव असेम्ब्ली और चैम्बर ऑफ़ प्रिंस के रूप में आवाश्यकता में लाया जाने लगा।

राष्ट्रपति भवन (Rashtrapati Bhavan)

राष्ट्रपति भवन हमारे देश के राष्ट्रपति का निवास स्थान होता हैं। इसका निर्माण ब्रिटिश काल में गवर्नर जनरल ऑफ़ इंडिया के लिए किया गया था। यह इमारत मुग़ल और भारतीय कला के मिले जुले रूप में से एक है। यहाँ पर सुन्दर फूलों से भरा हुआ बगीचा और विभिन्न और दुर्लभ प्रजातियों के फूल यह के बगीचे में लगे हुए हैं।

हुमायूँ का मक़बरा (Tomb of Humayun)

इसे यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साईट में शामिल किया गया हैं। इसका निर्माण हुमायूँ की मौत के बाद उसकी सबसे बड़ी पत्नि ‘बेगा बेगम’ ने कराया था। यह भारत में पहला ऐसा मक़बरा हैं, जो एक बाग़ के रूप में बनाया गया है। यह मक़बरा बगीचे के बीचों बीच बना हुआ हैं। बाद में मुग़ल सल्तनत के कई शासकों को इसी मक़बरे के पास दफनाया गया है।

चांदनी चौक (Chandni Chowk)

चांदनी चौक दिल्ली के मुख्य बाज़ारों में से एक हैं । इसका नाम हम सभी ने सुना हुआ ही है। जिसका निर्माण मुग़ल बादशाह शाह जहाँ ने करवाया था। चांदनी चौक को बनाने के पीछे उनका उद्देश्य यह था कि उनकी बेटी अपनी जरुरत और पसंद की हर चीज इस बाज़ार से खरीद सकें। चांदनी चौक एशिया का सबसे बड़ा थोक बाज़ार (Wholesale Market) हैं। यह उत्तर मध्य दिल्ली के सबसे पुराने और सबसे व्यस्त बाज़ारों में से भी एक हैं। चांदनी चौक top place to visit in Delhi है।

क़ुतुब मीनार (Qutub Minar)

क़ुतुब मीनार दक्षिणी दिल्ली के महरौली में कुतब कॉम्प्लेक्स में स्थित हैं। जिसका निर्माण ‘क़ुतुब-उद-दीन ऐबक’ ने करवाया था। यह मीनार लाल पत्थरों से बनाई गई है। जिसकी ऊंचाई 72.5 मीटर हैं। क़ुतुब-उद-दीन ऐबक दिल्ली पर मुस्लिम हुकुमत हासिल करने के कारण इसे ‘विजय स्तम्भ’ (Victory Tower) के रूप में बनाना चाहता था। परन्तु उसके द्वारा इस इमारत का मात्र पहला माला (1st story) ही बनाया गया, अन्य माले उसके उत्तराधिकारी ‘इल्तुतमिश’ द्वारा और बाद में सफ़ेद संगमरमर (Marble) के अन्य दो माले सन 1368 में ‘फेरोजशाह तुग़लक’ द्वारा बनवाए गये। क़ुतुब मिनार का महत्व इसलिए भी माना जाता हैं क्योंकि यह भारतीय संस्कृति का इतिहास बताती हैं।

अक्षरधाम मंदिर (Akshardham Temple)

अक्षरधाम मंदिर विश्व के सबसे बड़े मंदिरों में से एक हैं। यह लगभग 100 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ हैं। इसका निर्माण सन 2005 में हुआ हैं। मंदिर प्रांगण में ही उच्च तकनीकी के साथ प्रदर्शनी (Exhibition), एक IMAX थिएटर, म्यूजिकल फाउंटेन और फ़ूड कोर्ट भी बनाए गए हैं।

जामा मस्जिद (Jama Masjid)

मस्जिद–ए-जहां-नुमा को जामा मस्जिद के नाम से जाना जाता हैं। यह पुरानी दिल्ली की मुख्य मस्जिदों में से एक हैं। इसे मुग़ल बादशाह शाहजहां ने सन 1656 में बनवाया था। यह भारत को सबसे बड़ी और बेहतरीन मस्जिदों में शामिल हैं। इसमें एक बार में लगभग 25000 लोग एक साथ इबादत कर पाते हैं।

इंडिया गेट (India Gate)

इसका नाम तो हम सभी ने सुना है। यह दिल्ली की सबसे खुबसूरत निर्माण कार्यों में से एक हैं। इसका निर्माण उन 90,000 शहीदों की याद में और उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए किया गया था, जिन्होंने अफ़ग़ान युद्ध और प्रथम विश्व युद्ध के समय अपने प्राणों की बलि दी थी। इसका निर्माण सन 1931 में किया गया था।

लाल किला (Red Fort)

भारत में मुग़लों के शासन के प्रतिक के रूप में लाल किले का निर्माण कराया गया था। इसका निर्माण सन 1638 में कराया गया। इसको बनाने का उद्देश्य हमलों के समय आत्मरक्षा (अपनी खुद की सुरक्षा) करने के लिए किया गया था। इस किले की दीवारों की ऊँचाई 33 मीटर की रखी गयी थी। यहाँ साउंड और लाइट शो दिखाए जाते हैं, जो करीब एक घंटे का होता हैं। इनमें उन प्राचीन घटनाओं को दर्शाया जाता हैं, जो लाल किले से सम्बन्धित हैं। यह सोमवार (monday) को बंद रहता हैं। इसे यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साईट में शामिल किया गया हैं।

Conclusion

इस article में आपने Top Places to visit in Delhi के बारे में जाना है। हम आशा करते हैं आपको हमारा यह article पसंद आया होगा। यह आपकी बहुत help भी करेगा की कौनसी जगह किस चीज़ के लिए प्रसिद्ध हैं।इस प्रकार दिल्ली में अनेक स्थान हैं, जिन्हें देखना अपने आप में अलग ही अनुभूति हैं। आपको एक बार यह जरूर जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *